हर आंख में आंसू थे, मैं आपकी बात सीएम तक पहुंचाऊगा-राकेश चौधरी

By 05:12 PM, 13.March 2018 Custom Tag

ग्वालियर. वीरांगना लक्ष्मीबाई समाधि के सामने पिछले 6 दिनों से 4 महिलायें अपनी मांगों को लेकर आमरण अनशन पर बैठी है। चारों महिला अतिथि विद्वानों स्वास्थ्य हालत काफी नाजुक हैं, लेकिन इस बात को लेकर प्रदेश सरकार गंभीर नहीं हैं, इस दौरान आज दोपहर 3 बजे भाजपा नेता  विधायक राकेश चौधरी अतिथि विद्वानों के धरने पर पहुंचे और उन्होंने बड़े ही मार्मिक अन्दाज अपनी बात अतिथि विद्वानों के बीच रखी और संबोधित करते हुए कहा कि मैं मुख्यमंत्री जी को आज ही कडे़ शब्दों में पत्र लिखूंगा और आपकी बात रखने का प्रयास  करूंगा और पत्र की प्रतिलिपि आपके अध्ययक्ष को भी भेजूंगा। इस बीच कई बार भावुक भी हो गये उनकी आंसू भी थे, वह  लेकिन मेरा इतना आग्रह है कि आमरण अनशन छोड़कर आन्दोलन के लिये और अन्य तरीके अपनाये ंतो बेहतर होगा आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं हैं, इस बात पर आमरण अनशन बैठी महिलाओं ने एक स्वर में कहा कि हमारा अनशन मरते दम तक जारी रहेगा।
6 दिन से भूख हड़ताल पर हैं महिलायें
रायसेन के उदयपुरा से डॉ पार्वती वियाग्र,   गुना पीजी कॉलेज से डॉ. रान, भिण्ड़ के मिहोना स्थिल बालाजी कॉलेज से डॉ ममता प्रजापति (दिव्यांग भी हैं) सतना के निवाड़ी कॉलेज से डॉ ज्योति शिखा है। यह अतिथि विद्धान हैं और पिछले 6 दिनों से भूख हड़ताल पर है। इन्होंने एक अन्न का दाना भी ग्रहण नहीं किया है। जब धरनास्थल पर देखा गया तो बेहोशी की अवस्था में धरना पर लेटी हुई मिली है। हमारे साथ मंत्री ने कितना घटिया मजाक किया है कहते हैं कि हम फोटो खिचवाने के लिये आन्दोलन कर रहे हैं।
मंत्री के ब्यान को लेकर दुःखी हूं
हम सभी लोग 6 दिन से अनशन पर हैं लोकतंत्र में हमें अपनी मांगों को रखने का अधिकार हैं जब सरकार हमारी नहीं सुन रही है तो हम क्या करें धरना भी नहीं दे सकते हैं और हमारे मंत्री जी ब्यान दे रहें है कि महिलायें फोटो के लिये धरना पर बैठी हुई हैं। पिछले 20 वर्ष से अतिथि विद्धान हूं । 
हमारी मांग है
अतिथि विद्धानों की जो प्रमुख मांगे हैए उनमें असिस्टेंट प्रोफेसर भती परीक्षा निरस्त करने सहित नियमितीकरण और संविदाकरण करने की मांग शामिल हैं। 
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 05:12 PM, 13.March 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी