लव मैरिज करने पर मायकें वालों की सास ससुर की मारपीट, पुलिस के कहने पर पहुंचे थे खेती देखने

By 06:30 PM, 17.December 2017 Custom Tag

ग्वालियर. मुरैना के एक गांव में लव मैरिज करने वाली युवती दबंग मायके वालों के डर से पति व सास ससुर के साथ ग्वालियर आकर रहने लगी थी। कुछ दिन पूर्व  पुलिस के आश्वासन पर सास ससुर खेती देखने गांव गए। यहां सुरक्षा नहीं मिली, नतीजतन बहू की परिवार लों ने उन पर हमला कर दिया। 
मुरैना एसपी को की मायके वालों की शिकायत
मुरैना में दिमनी थाना क्षेत्र के गांव घुरघान की वर्षा राजपूत ने पिछले वर्ष फरवरी में गांव के ही योगेन्द्र से लव मैरिज कर ली थी। 
दोनोें का अफेयर दो साल से चल रहा था।
वर्षा की परिवार गांव के दबंगों में गिनी जाती है और अफेयर का राज ,खुला तो फैमिली ने वर्षा व योगेंद्र के रिलेशन पर आपत्ति जताते हुए दोनों का मिलना जुलना बंद करा दिया। इसके बाद फरवरी 2016 में वर्षा मौका पाकर योगेंद्र के साथ भाग निकली थी, दोनों ने ग्वालियर में लव मैरिज कर यहीं गदाईपुरा मोहल्ले में किराए का मकान लेकर छिप कर रहना शुरू कर दिया था।
वर्षा के परिवार वालों  को जब लव मैरिज की खबर मिली तो आसपास के गांवों में और मुरैना में कपल को तलाश किया, नहीं मिले तो वर्षा के बुजुर्ग सास ससुर की मारपीट कर दबाव बनाना शुरू कर दिया। इस पर वर्षा पति के साथ मुरैना में जनसुनवाई में पहुंची और एसपी के निर्देश पर मिली दिमनी थाने के पुलिस फोर्स की सहायता से सास ससुर को अपने साथ ग्वालियर ले आई थी। 
पुलिस के कहने पर गांव गए तो हुआ हमला 
वर्षा  की फैमिली शादी के बाद से ही योगेन्द्र के परिवार से रंजिश माने हुए है। हाल ही में 12 दिसंबर को दिमनी थाना प्रभारी ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह लोग अपने गांव में जाकर रहें, पुलिस उनकी मदद करेगी।
पुलिस का भरोसा पाकर वर्षा के सास ससुर खेती की निगरानी करने गांव पहंुचे, लेकिन वर्षा की परिवार वालों  ने 15 दिसंबर को उन पर हमला कर दिया। हमले की सूचना मिलने पर कपल दोनों को मुरैना के डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल ले आया।
वर्षा ने  दिमनी थाने में भाई देवेन्द्र, सुनील, मां रेसो देवी और ताई शीला देवी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाही नहीं की। इसलिए वर्षा ने 16 दिसंबर को मुरैना एसपी को लिखित शिकायत सौंपी। शिकायत में चर्षा ने आग्रह किया है कि सास ससुर पर हमला करने वाले मायके वालों पर सख्त कार्रवाही की जाए ताकि आइंदा इस तरह के हमलों की आशंका न रहे।

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 06:30 PM, 17.December 2017Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी