एफसीआई वॉचमेन पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने दबोचा मास्टर माइंड

By 07:28 PM, 12.June 2018 Custom Tag

ग्वालियर. जिला न्यायालय में भारतीय खाद्य निगम के वॉचमैन पेपर लीक के मामले में एसटीएफ की टीम ने 10 हजार रूपये का इनामी मास्टर माइंड देशराज किशोर को नई दिल्ली से गिरफ्तार कर न्यायधीश प्रदीप दुबे के न्यायालय में पुलिस रिमाण्ड के लिये पेश किया गया।  जिसमें एसटीएफ को 21 जून तक साक्ष्य एकत्र करने के लिये रिमांड दिया गया है। आपको बता दें कि अभी तक एसटीएफ ने अभी तक 50 लोगों को गिरफ्तार जेल भेज चुकी है। 
क्या है पूरा मामला
एडीजी एसडब्ल्यू नकवी को मिले इनपुट्स के आधार शुक्रवार की सुबह 3 बजे एसटीएफ की 40 सदस्यीय टीम ग्वालियर रेलवे स्टेशन के चप्पे चप्पे पर तैनात थी ट्रेन उतरने वाले हर जवान युवकों पर थी कौन किसकों क्या दे रहा और कौन किसे क्या ले रहा है। रेलवे स्टेशन पर पकड़े परीक्षार्थियों से की गयी पूछताछ के आधार पर एसटीएफ टीम ने गांधीनगर स्थित सिद्धार्थ गेस्ट हाउस दो दलाल हरीशकुमारए आशुतोष कुमार के साथ 48 परीक्षार्थियों को अरेस्ट कर लिया है। हैण्डलर इनसे एडवांस बतौर 50 हजार रूपये इनके डॉक्यूमेंट्स; अंकसूची और रोल नम्बरद्ध और इनका मोबाइल ले लिया जाता था जब यह लड़के पास हो जाते थे बदले 4 लाख 50 हजार रूपये लेकर डॉक्यूमेंट्स वापिस किये जाते थे। दलालों को बदले में 10से 20 हजार रूपये बतौर कमीशन मिलता हैए दलाल इन परीक्षार्थियों को 4.5 ग्रुप में विभाजित कर दिया था। इन परीक्षार्थियों को जो हस्तलिखित पेपर में 110 प्रश्न दिये गये जिन्हें 2 से 3 घंटे में हल कराकर प्रैक्टिस कराते हैं उसके बाद यह परीक्षा देने जाने वाले थे। लेकिन 2 दलाल आशुतोषए हरीशकुमार गिरफ्तार कर जिला न्यायलय में पेश किया है न्यायालय से रिमांड लेकर पूछताछ करेगी। इन सभी परीक्षार्थियों और दलालों को धारा 420ए 120बीए 3ध्4 ;यह कानून 1937 में बना थाद्ध 
भारी सुरक्षा के बीच लाया गया मास्टर माइंड
एफसीआई वॉचमेन पेपर लीक के मास्टर माइंड  देशराज को एसटीएफ इंस्पेक्टर चेतन सिंह बैस, एएसआई शाकिर अली, आरक्षक अमित, धर्मेन्द्र, रवि, अनिल घेरे में लेकर न्यायालय में पेश करने के लिये लेकर पहुंचे।
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और

ट्विटर पर फॉलो करें

By 07:28 PM, 12.June 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी