सीएम शिवराज सिंह ने सपत्नीक की गोवर्धन पूजा

By 07:22 AM, 21.October 2017 Custom Tag

भोपाल. सीएम हाउस में सीएम शिवराजसिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह ने गोवर्धन पूजा की, दीवाली के अगले दिन मनाये जाने वाले गोवर्धना पूजा को अन्नकूट पर्व भी कहा जाता है कि इस दिनों मंदिरों में भगवान को छप्पन भोग का प्रसाद लगता हैं सीएम ने पूजा के बाद प्रदेश की खुशहाली और धन्य धान्य की कामना की है।
वनस्पतियों को पूजन की परंपरा 
इस मौके पर सीएम ने कहा कि,  हमारे देश में पहाड़ों,  नदियों,  पेड़.पौधों,  वनस्पतियों को पूजने की परंपरा है। इनके बगैर स्वस्थ्य एवं सुदीर्घ जीवन की कल्पना भी संभव नहीं है। सीएम ने कहा कि ऋषियों ने पर्यावरण बचाने की परिकल्पना की थी। भगवान श्रीकृष्ण ने विश्व को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया था। लोग भक्तिपूर्ण तरीके से खाद्य बनाकर भगवान को भोग लगाते हैं। इस दिन खरीफ फसलों से प्राप्त अनाज के पकवान और सब्जियां बनाकर भगवान विष्णु जी की पूजा की जाती है।
भगवान कृष्ण ने राजा इन्द्र को पराजित किया था
पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी उंगली पर उठा कर ब्रजवासियों की भारी बारिश से रक्षा की थी। ऐसा करके श्रीकृष्ण ने इंद्र के अहंकार को भी चूर.चूर किया था। गोवर्धन पूजा का श्रेष्ठ समय प्रदोष काल में माना गया है।
मान्यता है कि इस दिन भगवान कृष्ण ने स्वर्गलोक के राजा भगवान इन्द्र को पराजित किया था। भगवान कृष्ण ने वृंदावन धाम के लोगों से कहा कि प्राकृति की पूजा करें क्योंकि प्राकृति ही लोगों को सब.कुछ देती है। इस तरह भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत की पूजा करने के लिए कहा और लोगों को प्राकृति के प्रति जागरुक किया। इसलिए ही इस दिन गोवर्धन पूजा की जाती है।
. इसके पहले सीएम ने दीवाली त्योहार को भी परंपरागत तरीके से सेलीब्रेट किया। उनकी पत्नी साधना सिंह भी साथ में थीं। इसके बाद उन्होंने प्रदेश वासियों को दीवाली की शुभकामनाएं दीं और प्रदेश के विकास का संकल्प दिलाया।
ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान कृष्ण ने स्वर्गलोक के राजा भगवान इंद्र को पराजित किया था, भगवान कृष्ण ने वृंदावन धाम के लोगों से कहा कि प्रकृति की पूजा करें क्योंकि प्रकृति ही लोगों को सब कुछ देती है। इस तरह भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत की पूजा करने के लिये कहा और लोगों को प्रकृति के प्रति जागरूकर किया । इसीलिये ही इस दिन गोवर्धन पूज की जाती है। इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने दिवाली त्यौहार को भी परंपरागत तरीके से सेलीब्रेट किया। उनकी पत्नी साधना सिंह भी साथ में थी। इसके बाद उन्होंने प्रदेशवासियों को दिवाली की शुभकामनायें दी और प्रदेश के विकास का संकल्प दिया। 

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और

ट्विटर पर फॉलो करें 


By 07:22 AM, 21.October 2017Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी