5 वर्ष से नहीं भरा बिल, उपभोक्ताओं पर 357 करोड़ रूपये बकाया

By 06:43 PM, 15.April 2018 Custom Tag

ग्वालियर। मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के दीनबंधुओं ने 5 वर्ष से बिजली का बिल नहीं भरा है। इस कारण 2 लाख 77 हजार उपभोक्ताओं पर 357 करोड़ का बकाया हो गया है और कंपनी इन उपभोक्ताओं के कनेक्शन भी नहीं काट पा रही न ही वसूली कर पा रही है। अब कंपनी भी नई योजना का इंतजार करने लगी है कि इस पैसे को सरकार कब माफ करती है। यह उपभोक्ता अनुसूचित जाति, जनजाति व बीपीएल श्रेणी के हैं। 
क्या है पूरा मामला
प्रदेश में वर्ष 2013 में दीनबंधु योजना लागू की थी। इस योजना के तहत एससी और एसटी व बीपीएल श्रेणी के उपभोक्ताओं का बकाया माफ किया गया था। 50 प्रतिशत राशि बिजली कंपनी व 50 प्रतिशत प्रदेश सरकार ने माफ की थी। इस तरह इन उपभोक्ताओं का पूरा पैसा माफ हो गया था। इसके बाद बिल शून्य होने के बाद भी 5 वर्ष में इन उपभोक्ताओं ने बिजली का जमा नहीं किया। इस कारण ग्वालियर क्षेत्र में 2 लाख 77 हजार उपभोक्ताओं पर 357 करोड़ का बकाया हो गया है। यह राशि इतनी अधिक है कि उपभोक्ता द्वारा अपनी जेब से भरना मुश्किल है। अब इस बकाये को लेकर बिजली कंपनी भी फिर से नई दीनबंधु योजना का इंतजार करने लगी है जिससे यह पैसा माफ हो सके।
आपके उपर क्या पड़ रहा असर
अनुसूचित जाति, जनजाति व बीपीएल श्रेणी के उपभोक्ताओं के बिल जमा नहीं होने से बकाए में इजाफा होता है। बिजली कंपली बकाये का हवाला देकर हर साल टैरिफ में वृद्धि मांगती है। इसके अलावा इन उपभोक्ताओं की वजह से कंपनी के लाइन लॉस में भी वृद्धि होती है। इसे कम करने के लिए उन उपभोक्ताओं पर आकलित खपत लगाई जाती है जिनके मीटर खराब हैं।
ग्वालियर रीजन में 2.77 लाख उपभोक्ताओं पर 357 करोड़ का बकाया।
भोपाल रीजन में 4.23 लाख उपभोक्ताओं पर 389 करोड़ का बकाया।
दोनों रीजन में एसटी और एससी व बीपीएल उपभोक्ताओं पर 747 करोड़ का बकया।
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 06:43 PM, 15.April 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी