एसबीआई ने मिनिमम बैंलेंस मेंटेन नहीं करने पर 75 प्रतिशत पेनाल्टी कम की

By 01:39 PM, 13.March 2018 Custom Tag

नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने अकाउंट बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर लगने वाली पेनाल्टी में 75प्रतिशत  तक कमी की है। ऐसे में अब किसी भी उपभोक्ता को 15 रुपए से अधिक पेनाल्टी नहीं देनी पड़ेगी। अभी तक यह राशि अधिकतम 50 रुपए था। बैंक कस्टमर को घटी हुई पेनाल्टी का फायदा एक अप्रैल से मिलेगा।
सभी तरह की ब्रांच के कस्टमर के लिए घटे रेट
एसबीआई की तरफ से दी गयी जानकारी के मुताबिक पेनाल्टी चार्ज सभी तरह के ब्रांच कस्टमर के लिए घटाया गया है। यानी इसका लाभ मेट्रो शहरी और ग्रामीण सभी इलाकों के कस्टमर को मिलेगा। बैंक का दावा है कि इस कदम से एसबीआई के 25 करोड़ कस्टमर को सीधा लाभ मिलेगा।
मेट्रो और शहरी ब्रांच में (मासिक औसत बैंलेंस 3000 रु.)  
50%  तक बैलेंस कम होने पर                         10 रु.            30 रु.
50% से ज्यादा और 75%तक बैलेंस कम होने पर   12 रु.            40 रु.
75%  से ज्यादा बैलेंस कम होने पर                    15 रु.            50 रु.
अर्द्ध शहरी ब्रांच में (मासिक औसत बैंलेंस 2000 रु.
50ः  तक बैलेंस कम होने पर                            7.50 रु.        20 रु.
50ः  से ज्यादा और 75%  तक बैलेंस कम होने पर   10 रु.           30 रु.
75 से ज्यादा बैलेंस कम होने पर                        12 रु.           40 रु.
ग्रामीण ब्रांच में (मासिक औसत बैंलेंस 1000 रु.)
50% तक बैलेंस कम होने पर                             5 रु.             20 रु.
50ः से ज्यादा और 75ः तक बैलेंस कम होने पर        7.5 रु.          30 रु.
50% से ज्यादा  और 75% तक बैलेंस कम होने पर 10 रु.         40 रु.
(नोट. पेनाल्टी की नई दरें 1 अप्रैल से प्रभावी होंगी। जीएसटी अलग से देय होगा)
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 01:39 PM, 13.March 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी