सीएम किसान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे उधर पुलिस किसानों को पीट रही थी

By 07:08 PM, 06.December 2017 Custom Tag

ग्वालियर. शिवपुरी के बदरवास कस्बे में बुधवार को आयोजित किसान सम्मेलन में उस समय भगदड़ मच गयी, जब किसानों पर पुलिस ने लाठियां भांजना शुरू कर दी। यह किसान सम्मेलन में जाना चाहते थे वहीं पुलिस बैरीकेट लगाकर रोक रही थी बाद में कुछ बीजेपी नेताओं ने हस्तक्षेप किया, तब जाकर पुलिस ने लाठियां भांजना बन्द की। 
यह है पूरा मामला 
कोलारस विधानसभा इलाके बदरवास में बुधवार को भाजपा ने किसान सम्मेलन का आय़ोजन किया था। इस आयोजन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मुख्य अतिथि थे।  सीएम शिवराज सम्मेलन में पहुंचे,  उन्होंने किसानों को भावांतर योजना से लेकर अपनी सरकार के काम गिनाने शुरू किए। चूंकि मैदान थोड़ा छोटा था और किसान सहित दूसरे लोगों की संख्या ज्यादा थी।  मैदान भर  गया,  तो पुलिस ने बैरीकेट लगाकर लोगों की आवाजाही बंद कर दी। इस बीच कुछ किसान उस रास्ते से अंदर जाने लगे जो सीएम व दूसरे वीआईपी को स्टेज पर लाने लेजाने के लिए बनाया गया था।  पुलिस ने किसानों को एंट्री देने से मना कर दिया। इस बीच किसी ने पुलिस के ऊपर धूल फेंकना शुरू कर दी और जबरन अंदर की ओर जाने लगे।  इसी बीच भीड़ तेजी से अंदर जाने लगी,  जिसे पुलिस ने रोका,  लेकिन कुछ लोगों ने उपद्रव भी मचाना शुरू कर दिया। यह देखते हुए पुलिस ने लाठियां भांजनी शुरू कर दीं।  लाठियां भांजते ही भगदड़ मचने लगी। कुछ लोग जमीन में भी गिर पड़े। सम्मेलन में स्कूल स्टूडेंट भी थीं,  कल्चरल परफोर्मेंस के लिए आई थीं। भगदड़ मचने से वो भी परेशान हो गईं।  शोर सुनकर स्थानीय भाजपा नेता वहां पहुंचे और पुलिस को लाठियां भांजने से रोका। इसके बाद किसानों को समझाया और कहा कि उनके लिए स्थान तय है,  वहां जाकर बैठें। किसान शांत हुए और मैदान में वहां जाकर बैठ गए,  जहां उनके लिए स्थान रिजर्व था। कुछ लोग नाराज होकर सभा से भी चले गए।
कोलारस में उपचुनाव होना है
गौरतलब है कि किसान सम्मेलन जिस बदरवास में आयोजित किया गया था वह कोलारस विधानसभा में आता है और यहां विधायक रामसिंह यादव के निधन के कारण यहां पर उपचुनाव होना है। ज्योतिरादित्य सिंधिया का गढ़ माने जाने वाल कोलारस में होने वाले इस उपचुनाव को सीएम मुख्यमंत्री शिवराजसिंह और स्थानीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिटमस टेस्ट के तौर पर देखा जा रहा है। 

www.newsmailtoday.comसे जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और

ट्विटर पर फॉलो करें


By 07:08 PM, 06.December 2017Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी