मक्का मस्जिद ब्लास्टकाण्ड में असीमानंद समेत सभी 5 आरोपी बरी

By 03:23 PM, 16.April 2018 Custom Tag

हैदराबाद. मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की स्पेशल कोर्ट सोमवार को 11 वर्ष के बाद फैसला सुनाया। कोर्ट ने स्वामी असीमानंद सहित सभी 5 आरोपियों को बरी कर दिया। बता दें कि 18 मई, 2007 को हुए ब्लास्ट में 9 लोगों की मौत हो गई थी। लगभग 58 लोग घायल हुए थे। शुरूआती जांच के बाद यह केस एनआईए को ट्रांसफर कर दिया गया था।  
कोर्ट ने पिछले हफ्ते फैसला सुरक्षित रखा था 
एनआईए की कोर्ट ने सुनवाई पूरी कर ली है। पिछले सप्ताह फैसले की सुनवाई सोमवार 16 अप्रैल तक कि लिए टाल दी थी। पहले इस केस की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी। लेकिन 2011 में इसे एनआईए को सौंप दिया गया था।
5 लोगों को आरोपी बनाया गया था
देवेंद्र गुप्ता, लोकेश शर्मा, स्वामी असीमानंद, भरत और राजेंद्र चौधरी को आरोपी बनाया गया था।
टाइमलाइन- कब, क्या हुआ था
18 माई 2017- मक्का मस्जिद में शुक्रवार को ब्लास्टः 9 की मौत 58 जख्मी।
जून 2010- आरएसएस एक्टिविस्ट सुनील जोशी को सीबीआई ने अहम आरोपी बनाया था। जोशी की 29 दिसंबर, 2007 को 3 अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।
19 नवंबर 2010- अभिनय भारत संगठन के सदस्य स्वामी असीमानंद को सीबीआई ने अरेस्ट किया। इसी दौरान जांच एजेंसी ने देवेंद्र ग्रप्ता और लोकेश शर्मा को भी गिरफ्तार किया गया।
18 दिसंबर 2010- असीमानंद ने कोर्ट के सामने ब्लास्ट में शामिल होने की बात कबूली।
अप्रैल 2011- इस केस की जांच सीबीआई से एएनआई को सौंप दी गई।
23 मार्च 2017- हैदराबाद कोर्ट ने असीमानंद को इस शर्त पर जमानत दी थी कि वह हैदराबाद और सिकंदराबाद नहीं छोड़ सकता। वह 7 वर्ष तक जेल में रहा।
31 मार्च 2017- असीमानंद जेल से रिहा।
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 03:23 PM, 16.April 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी