युवती आत्महत्या करने तालाब में कूंदी लेकिन पुलिस ने बचाया

By 11:14 PM, 11.January 2018 Custom Tag

भोपाल. बोगदा पुल से छोटे तालाब में जान देने के लिये कूंदी लड़की को तलैया थाने के 2 आरक्षकों ने बचा लिया। फेफड़ों में पानी भरने की वजह से वह बेहोश हो चुकी थी। शरीर में जरा सी हरकत नजर आई और दोनों सिपाहियों ने वर्दी सहित गहरे पानी में  कूंद गये। डॉक्टरों का दावा है कि कुछ सेकेण्ड की देर हो जाती तो यह लड़की पानी में रहती तो बचाना मुश्किल हो जाता । 
क्या है पूरा मामला 
गुरुवार सुबह करीब 9 बजे थे। सिपाही राजन आर्य और जीतेंद्र मालवीय तलैया थाने के बाहर खड़े थे। एक राहगीर दौड़ते हुए आया और कहा कि पुल बोगदा से एक युवती ने छोटे तालाब में छलांग लगा दी है। 2 सिपाही,  हवलदार राजेश उइके और सिपाही नरेश देबराय के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। राजन ने बताया कि तब तक युवती पानी में बेहोश हो चुकी थी। दोनों को लगा कि अब बहुत देर हो गई,  तभी उसके दाहिने हाथ में जरा सी हलचल नजर आई। मोबाइल फोन और पिस्टल साथी स्टाफ को पकड़ाई और जीतेंद्र के साथ पानी में छलांग लगा दी। युवती पुल से ज्यादा दूर नहीं थी। उसे खींचकर किनारे पर लाए और स्टाफ व राहगीरों की मदद से पानी से बाहर निकाल लिया।
युवती तो टहल रही थी वहां कैसे पहुंच गयी
पुलिस की सूचना पर युवती कीमां भी अस्पताल पहुंच गयी और साउथ टीटी नगर में रहने वाली 24 वर्षीय युवती के पिता का निधन हो चुका है और वह पुलिसकर्मी थे। युवती के चचेरे भाई ने बताया कि गुरूवार की सुबह चाची ने दीदी को कपड़े धोने के लिये दिये और कमरे में चली गयी। उस समय दीदी घर के बाहर टहल रही थी थोड़ी देर के बाद चाची बाहर निकली तो दीदी नजर नहीं आयी ।हम सभी ने काफी तलाश किया, लेकिन वह नहीं मिली। मैं तो बड़े तालाब और खटलापुरा भी गया था लौटकर वापिस आ कर हम गुमशुदगी दर्ज कराने की तैयारी में थे तभी पुलिस का फोन आया कि दीदी हमीदिया अस्पताल में भर्ती हैं। हम भी हैरान है कि उन्होंने यह कदम क्यों उठाया।
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 11:14 PM, 11.January 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी