32 वर्षो के बाद वीएचपी में तोगाडि़या युग खत्म

By 03:29 PM, 15.April 2018 Custom Tag

इंदौर. हिमाचल के पूर्व गवर्नर विष्णु सदाशिव कोकजे विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) के नए अंर्तराष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे। कोकजे के चुनाव में जीत के साथ ही 32 वर्ष से चले आ रहे प्रवीण तोगडि़या युग का समापन हो गया। कोकजे मप्र के धार जिले के रहने वाले हैं और उन्होंने इंदौर में रहकर पढ़ाई की थी। आपको बता दें कि 1964 में विश्व हिंदू परिषद की स्थापना की गई थी। 54 वर्ष में पहली बार विश्व हिंदू परिषद ने अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए चुनाव करवाया है। 2 उम्मीदवारों के नाम पर परिषद सदस्यों में सहमति नहीं बनने के बाद चुनाव का फैसला किया गया था। पार्टी संविधान के अनुसार अंर्तराष्ट्रीय, कार्यकारी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और महासचिव की नियुक्ति करता है।
गुरूग्राम में हुई वोटिंग में 192 सदस्यों ने किया मतदान
शनिवार को गुरूग्राम स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में अध्यक्ष पद के लिए वोट डाले गए। इसमें बीएचपी के 237 में से 192 सदस्यों ने मतदान में हिस्सा लिया। जिसमें कोकजे ने तोगडि़या के नजदीक माने जाने वाले राघव रेड्डी को पराजित किया। चुनाव प्रक्रिया को पारदर्शी बनाए रखने के लिए पूरी प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग भी करवाई गई।
जानें बीएचपी के नए अध्यक्ष के बारे में
बीएचपी के नए अध्यक्ष का जन्म 6 सितंबर 1939 को मप्र के धार जिले के कुकसी गांव में हुआ था। कोकजे की शिक्षा इंदौर में हुई और यहीं से उन्होंने वकालत पास की डिग्री हासिल की। जुलाई 1990 में उनकी नियुक्ति मप्र हाईकोर्ट के रूप में हुई और 4 वर्ष तक वह इस पर रहे। इसके बाद अप्रैल 1994 में उन्हें राजस्थान हाईकोर्ट का जज नियुक्त किया गया यहां वह 2001 तक रहे। इसके बाद उन्हें 2003 में हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बना दिया गया जहां वह 2008 तक रहे। इसके अलावा वह संघ से जुड़ी भारत विकास परिषद के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 03:29 PM, 15.April 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी