मप्र को मिला पांचवी बार कृषि कर्मण अवार्ड

By 04:25 PM, 17.March 2018 Custom Tag

भोपाल/इन्दौर. मप्र लगातार पांचवीं बार कृषि कर्मण अवार्ड लेने वाला पहला राज्य मप्र बन गया है। प्रदेश यह अवार्ड वर्ष 2015-16 में गेंहू के पैदावार की श्रेणी मंे दियागया था, शनिवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को ट्रॉफी प्रदान की है। इस अवार्ड के साथ ही मप्र ने पंजाब और हरियाणा को गेहूं उत्पादन में पीछे छोड़ दिया है। अवार्ड के रूप में मप्र को ट्रॉफी, प्रशस्त्रि पत्र और 2 करोड़  का नगद पुरूस्कार दिया गया है।
नये भारत के दो पहरियों से मिलने का अवसर मिला 
पीएम नरेन्द्र मोदी ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि न्यू इंडिया को बनाने में बहुत बड़ी भूमिका कृषि मेले की है। इस मेले के माध्यम से न्यू इंडिया के 2 पहरियों से बात करने का अवसर मिला है। न्यू इंडिया का प्रथम पहरी हमारा अन्नदाता है,  जो अपनी मेहनत से हमें भोजन उपलब्ध करवाता है। वहीं दूसरे प्रहरी हमारे वैज्ञानिक हैं,  जो नई तकनीकी से किसान का जीवन आसान करने में लगे हुए हैं। आज हमारे किसान तकनीकी माध्यम से हमसे सीधे जुड़े हुए हैं।  यहां आने से पहले मैंने यहां लगे विशाल मेले को देखा,  वहां किसानों से वैज्ञानिकों से मिला,  बात की और नई तकनीकी को देखा। यहां कृषि के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने वाले किसानों को सम्मानित करने का अवसर मिला है। यह पुरुस्कार आपकी मेहतन का नतीजा है। आप का काम अन्य किसानों के लिए एक प्रेरणा है। मेघायल को एक अलग पुरस्कार दिया गया है। क्षेत्रफल में छोटा होने के बाद भी मेघायल ने पैदावार में 5 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। यहां के किसान बधाई के पात्र हैं। सरकार किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए प्रयासरत है। 
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें


By 04:25 PM, 17.March 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी