भाजपा की स्कैन रिपोर्ट को अपने मानकों पर कसा संगठन मंत्री और नरेन्द्रसिंह तोमर ने

By 03:19 PM, 15.April 2018 Custom Tag

ग्वालियर. विधानसभा चुनावों में भले ही 7 महीने  का वक्त हो लेकिन भाजपा अभी से पूरी तरह सक्रिय मोड़ में आ गयी है। पार्टी के संगठन महामंत्री सुहास भगत ने शनिवार को ग्वालियर चंबल संभाग की हर विधानसभा की स्थिति जानने  3 सदस्यीय कोर कमेटी के साथ बैठक की। जाना कि किस मंडल के किस मतदान केन्द्र पर पार्टी कि स्थिति क्या है,  वहां  के जातिगत समीकरण क्या है मतदाताओं को प्रभावित करने वाले गणमान्य नागरिक कौन है,  जिन विधानसभा क्षेत्र के मंडलों से आई रिपोर्ट पर संतुष्ट नहीं दिखे वहां और काम करने का  निर्देश भी दिया। ताबड़तोड़  बैठकें लेने के बाद सुहास भगत  वापस  भोपाल  रवाना हो गए।
भाजपा की कामकाजी बैठकों के क्रम में संगठन महामंत्री सुहास भगत शुक्रवार की रात ही ग्वालियर आ गए थे। सुबह 9 बजे से उन्होंने विधानसभावार बैठकें लेना शुरू किया। इन बैठकों में सिर्फ जिलाध्यक्ष, विधानसभा में भेजे गए प्रवासी नेताओं को शामिल किया गया। ग्वालियर में यह बैठक जिलाध्यक्ष  देवेश शर्मा,  प्रवासी नेता  माधवसिंह  दंागी, धैर्यवर्द्धन के साथ की।
स्कैन रिपोर्ट तैयार करने में लापरवाही हो रही थी 
संगठन महामंत्री सुहास भगत ने मतदान केन्द्रों की जिस स्कैन रिपोर्ट को लेकर शनिवार को बैठक ली, वास्तव में 7 महीने से पहले की तैयार हो जानी चाहिए थी। इस स्कैन रिपोर्ट का जिम्मा मंडल प्रभारियों  को दिया गया था। जिसमें उन्हें बताना था कि मतदान कन्द्रों पर जातिगत समीकरण क्या हैं,  किन किन लोगों के पास मोटर सायकल हैं,  कौन है जो पार्टी की रैलियों में शामिल हो सकते हैं।
उनके मोबाइल नंबर की डिटेल भी तैयार की गई थी। चूकि काम नेतानगरी का नहीं था  इसलिए मंडल प्रभारियों ने इस काम को संजीदगी से नहीं लिया।
इसी बात को ध्यान में रखते हुए हर विधानसभा क्षेत्र कि लिए एक प्रवासी नेता को रिपोर्ट तैयार कराने भेजा गया था। ग्वालियर में माधवसिंह दांगी व धैर्यवर्द्धन को भेजा गया था। इन्होंने 26 मार्च से 3 अप्रैल के बीच यह स्कैन रिपोर्ट तैयार करवाई। इसी रिपोर्ट पर शनिवार को हुई बैठकों में चर्चा की गई।
रिपोर्ट में उपस्थिति पर हुई चर्चा
सुहास भगत ने मंडलों की बैठक में पदाधिारियों की उपस्थिति पर विशेष रूप से ध्यान दिया। इस उपस्थिति के आधार पर उन्होंने जाना कि वास्तव में वहां पार्टी सक्रिय है या सिर्फ कागजों में उसका संचालन हो रहा है। बैठक में उन की पर्सनल मतदान को प्रभावित कर सकने वाले प्रभावी लोग पर विशेष फोकस रखा गया। देखा गया कि उनके मोबाइल नंबर लिए गए हैं या नहीं।
14 अप्रैल से शुरू होकर 5 माई तक  चलने  वाले ग्राम  स्वराज अभियान में पार्टी  नेताओं को  सक्रिय  भूमिका में रहकर हितग्राहियों को पार्टी से जोड़ना है। लोगों के बीच  सरकार की योजनाएं पहुंचाने के साथ  उन्हें बताना है कि बीजेपी सरकार ने उनके  कल्याण  के लिए हर  तरह से तत्पर  है। यह निर्देश भाजपा के संगठन महामंत्री सुहास भागत ने ग्वालियर चंबल संभाग की तीनों संसदीय क्षेत्र के बैठक में पूरे समय रहे लेकिन ग्वालियर की बैठक में औपचारिक  परिचय  के साथ वह निकल गए। ग्वालियर संसदीय क्षेत्र की बैठक संभागीय संगठन मंत्री शैलेन्द्र बरूआ ने ली। इस बैठक में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश मंत्री जयभान सिंह पवैया, माया सिंह, नारायण सिंह, विधायक भारत सिंह, साडा अध्यक्ष राकेश जादौन, जिलाध्यक्ष देवेश शर्मा, जीडीए अध्यक्ष अभय चौधरी जिला व जनपद पंचायत के मुख्य पदाधिकारी ही उपस्थित रहे।
लोगों के बीच में जाएं
संगठन महामंत्री सुहास भगत ने पूरा जोर इस बात पर दिया कि ग्राम स्वराज अभियान के तहत होने वाले आयोजनों में हितग्राहियों को अधिक से अधिक संख्या में लाया जाए। लोगों के बीच पार्टी की पकड़ मजबूत करें।
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें  फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

By 03:19 PM, 15.April 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी