मुझे प्रजा को कंस के आतंक मुक्त कराना है-सुश्री दीपा मिश्रा

By 06:44 AM, 12.June 2018 Custom Tag

ग्वालियर. मथुरा में कंस के आतंक से परेशान प्रजा ने यशोदापुत्र कृष्ण को पुकारा, तो कृष्ण बोले मुझे जाना पड़ेगा, राधा की आंखों में आंसुओं की धार, राधा बोली में नहीं जाने दूंगी,  भगवान कृष्ण ने गोपियों से कहा कि अब मैं बांसुरी नहीं बजाऊंगा और न ही किसी को परेशान करूंगा क्योंकि मुझे मथुरा में राक्षक कंस के आतंक से परेशान प्रजा को मुक्त कराना है।
भगवान कृष्ण रथ सवार हो गये तो गोपियां रथ के आगे लेट गयी, भगवान कृष्ण ने गोपियों से रथ से उतर कर समझाया कि मुझे जाने दो तब कही जां कर गोपियां मानी। इसके बाद कृष्ण की मां आई और उन्होंने भी कृष्ण का रास्ता रोक लेकिन अंत में मां भी मान गयी और बोली मुझे आज पता चला कि तू मैरा लाल है। यह भाव छप्परवाला चौराहा स्थित पीएचई कार्यालय के सामने द्वारकाप्रसाद सिंघल के निवास पर चल रही भागवत के पांचवे दिन सुश्री दीपा मिश्रा भारती   ने व्यक्त किये। 
इस मौके पर उपस्थित  महिलाओं और युवतियों रासलीला पर डांस किया । मंगलवार को भागवत के समापन के अवसर मुख्य यजमान द्वारका प्रसाद सिंघल, विनोद सिंघल, सरला  सिंघल, आकाश, नेहा और श्रेया ने अधिक से अधिक संख्या में धर्मप्रेमी बंधुओं भागवत कथा के श्रवण के लिये शामिल होने की अपील की है। 
www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और

ट्विटर पर फॉलो करें



By 06:44 AM, 12.June 2018Custom Tag
Write a comment

 Comments

खबर अभी अभी